गाँव का विकास

नज़र हर ख़बर पर

जनपद न्यायालय देवरिया के मध्यस्थता केन्द्र में विद्वान मध्यस्थगणों का उनके कार्यशैली व हौसलों का किया गया सम्मान

0 0
Share
Read Time:4 Minute, 25 Second

रिपोर्ट-विनय कुमार सिंह

देवरिया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के तत्वावधान में जनपद न्यायालय देवरिया के मध्यस्थता केन्द्र में कार्यरत विद्वान मध्यस्थगणों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया । जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव न्यायाधीश शिवेन्द्र कुमार मिश्र ने पुष्प गुच्छ , माला व मिष्ठान खिलाकर उनका सम्मान किया । उन्होंने विद्वान मध्यस्थगणों का सम्मान करते हुये कहा कि मंजिले उनकों मिलती हैं जिनके सपनों में जान होती हैं पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती हैं , इस पंक्ति को चरित्रार्थ करते हुये विद्वान मध्यस्थगणों ने सोलह महिनों में 171 परिवारों को मिलाकर या सुलह कराकर खुशीपूर्वक घर भेजा एवं उनके बीच में वर्षों से चले आ रहे मुकदमों को समाप्त कराया । उन्होंने कहा कि जब एक परिवार के अंदर कोई विवाद उत्पन्न होता हैं तो उससे संबंधित दस परिवार परेशान हो जाते हैं और इस स्थिति में यह मामला न्यायालय पहुंचता हैं ।

फिर न्यायालय उन बिछड़े हुये परिवार को मिलाने के लिए एक अवसर देता हैं तथा उनका यह मामला जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के मध्यस्थता केन्द्र में भेजा जाता हैं । जब यह मामला मध्यस्थता केन्द्र में पहुँचता हैं तब तक यह मामला इतना भयावह हो जाता हैं कि दोनो परिवारों को मिलाने में बहुत मशक्कत करनी पड़ती हैं । इस स्थिति का सामना करते हुये भी सचिव न्यायाधीश जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया की सहायता से विद्वान मध्यस्थगण अपनी सुझ – बूझ व विद्ववता के बल पर उस मामले को निस्तारित करने के पड़ाव पर पहुंचते हैं और अंत में उन परिवारों को मिलाकर खुशीपूर्वक घर भेजते हैं । न्यायाधीश ने कहा कि विद्वान मध्यस्थगणों ने वर्ष भर अपने कार्य के प्रति सक्रियता को बनाये रखा जिससे अधिक से अधिक मामलों का निस्तारण संभव हो सका । उनके इस कार्यशैली व हौसलों से सुलह – समझौता केन्द्र हमेशा कृतज्ञ रहेगा । न्यायाधीश ने कहा कि न्याय के कम में अब जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया विभिन्न मामले को भी सुलह – समझौता के आधार पर निस्तारित करा रहा हैं वह चाहे पत्ति – पत्नी का मामला हो , विद्युत से संबंधित मामला हो , बैंक से संबंधित मामला हो , बीमा से संबंधित मामला हो , श्रम से संबंधित मामला हो या अन्य छोटे – मोटे मामले हो । इस दौरान समस्त विद्वान मध्यस्थगणों के चेहरे पर खुशी झलकी रही तथा इस सम्मान के लिए सचिव न्यायाधीश जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया को धन्यवाद ज्ञापित करते हुये कहा कि सचिव महोदय के अत्यधिक प्रयास से ही यह संभव हो सका । इस सम्मान समारोह कार्यक्रम में समस्त विद्वान मध्यस्थगण जिनमें सुभाषचन्द्र राव , श्यामनरायण पति त्रिपाठी , अरविन्द कुमार पाण्डेय , अशोक कुमार दीक्षित , सुशील कुमार मिश्र , शेषनाथ चतुर्वेदी , अनिल कुमार सिंह , अशोक कुमार मिश्र , रीता पाण्डेय व वीनू वर्मा का सम्मान किया गया ।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
error: Content is protected !!